आज के युग में शायद ही ऐसे कोई व्यक्ति होंगे जो यूट्यूब से वाकिफ नहीं होगा। यह विडियो सेवा वर्तमान समय की जरूरत बन चुकी है। दुनिया के हर उम्र, हर वर्ग तथा हर क्षेत्र के लोग इससे जुड़ चुके हैं एवं दिन प्रतिदिन इसकी मांग और बढ़ती जा रही है।

सूचना, मनोरंजन और रोजगार जैसी जरूरी आवश्यकताओं को पूरी करने का यह सबसे भरोसेमंद मंच बन चुका है। ऐसे में यूट्यूब की सेवा से दूर रहना किसी भी सामाजिक उद्यमी के लिए बड़ा नुकसानदायक साबित हो सकता है। इसलिए हमने भी इस क्षेत्र में कदम रखा। हमारे यूट्यूब चैनल का नाम एकेडमिक जगत है जो हमारी पत्रिका का भी नाम है।

हमने इस चैनल को अपनी पत्रिका का नाम इसलिए दिया क्योंकि इस नाम का मतलब एकेडमिक दुनिया से है। हमारा उद्देश्य हमारी सेवा का संदेश पूरी दुनिया भर में फैलाना है। हमारा विश्वास ऐसा कहता है कि यह नाम ही एक दिन हमारी सेवाओं का प्रतीक बनेगा। हमारा यह मानना है कि इसका नाम ही एक दिन दुनिया भर में हमारी सेवाओं का प्रतीक बनेगा।

In today’s era, there will hardly be anyone who is not familiar with YouTube. This video service has become the need of the present time. People of all ages, every category, and every region of the world have joined it and its demand is increasing day by day.

It has become the most trusted platform to fulfill essential needs like information, entertainment and employment. In such a situation, staying away from YouTube service can prove to be very harmful to any social entrepreneur. Therefore, we too stepped into this area. The name of our YouTube channel is Academic Jagat which is also the name of our magazine.

We named this channel our magazine because this name means the academic world. Our aim is to spread the message of our service throughout the world. We believe that its name will one day become a symbol of our services around the world.